65 th राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों की घोषणा श्रीदेवी बेस्ट एक्ट्रेस

65 -national-film-awards

65 -national-film-awards
आज 65वें राष्ट्रीय पुरस्कारों की घोषणा हुई। इस राष्ट्रीय पुरस्कारों में बेस्ट एक्ट्रैस का अवॉर्ड दिवंगत एक्ट्रैस श्रीदेवी को दिया गया है। जबकि इस साल का लाइफ टाइम अचीवमेंट अवॉर्ड दिवंगत एक्टर विनोद खन्ना को दिया गया है। श्रीदेवी की इसी साल मार्च में मौत हुई है। श्रीदेवी को उनकी 300वीं फिल्म ‘मॉम’ के लिए यह पुरस्कार मिला है। इस साल की सर्वश्रेष्ठ फिल्म के तौर पर असमिया फिल्म ‘विलेज रॉक स्टार’ को मिला है। वहीं बेस्ट पॉपुलर फिल्म के पुरस्कार के तौर पर बाहुबली 2 (तेलगु) को चुना गया है। ऐसे में सर्वश्रेष्ठ हिंदी फिल्म का पुरस्कार ‘न्यूटन’ को गया है। जबकि ऑस्कर के लिए भारत की आधिकारिक एंट्री बनी ‘न्यूटन’ के लिए एक्टर पंकज त्रिपाठी को स्पेशल मेंशन अवॉर्ड मिला है। इस साल बेस्ट एक्शन डायरेक्शन और बेस्ट स्पेशल इफेक्ट्स दोनों पुरस्कार फिल्म ‘बाहुबली 2’ को दिया गया है। मराठी फिल्म ‘धप्पा’ को नर्गिस दत्त पुरस्कार दिया गया है।दिवंगत एक्ट्रेस श्रीदेवी की 300वीं फिल्म ‘मॉम’ के बेकग्राउंड म्यूजिक को बेस्ट बेकग्राउंड स्कोर का राष्ट्रीय पुरस्कार दिया गया है। इस साल राष्ट्रीय पुरस्कारों की जूरी के अध्यक्ष हैं फिल्ममेकर शेखर कपूर, जो इस पुरस्कारों की घोषणा की। राष्ट्रीय पुरस्कारों की जूरी में इस साल 10 सदस्य हैं। इस जूरी में स्क्रीन राइटर इम्तियाज हुसैन, लेखक मेहबूब, साउथ इंडियन एक्ट्रेस गौतमी ताडिमाला और कन्नड़ डायरैक्टर पी. शेषाद्री, रंजीत दास आदि हैं।

ये हैं इस साल के अवॉर्ड:
बेस्ट हिंदी फिल्म- न्यूटन
बेस्ट पॉपुलर फिल्म (एंटरटेनमेंट)- बाहुबली: द कन्क्लूजन
बेस्ट एक्शन डायरेक्शन- अली अब्बास मोगल (बाहुबली- द कन्क्लूजन)
बेस्ट स्पेशल इफेक्ट्स- बाहुबली- द कन्क्लूजन
स्पेशल मेंशन अवॉर्ड- पंकज त्रिपाठी (न्यूटन)
बेस्ट फीमेल प्लेबैक सिंगर- शाशा तिरूपति (मलयालम)
बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस- दिव्या दत्ता (फिल्म इरादा)
बेस्ट डायरेक्शन- भयानकम (मलयालम फिल्म)
बेस्ट एक्ट्रेस- श्रीदेवी (मॉम)
बेस्ट एक्टर- रिद्धि सेन (बंगाली फिल्म नगर कीर्तन)
बेस्ट कोरियोग्राफर- गणेश आचार्य (टॉयलेट- एक प्रेम कथा)
बेस्ट म्यूजिक डायरेक्टर- ए आर रहमान
दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड- दिवंगत विनोद खन्ना
बेस्ट उड़िया फिल्म- Hello Arsi
बेस्ट तेलुगू फिल्म- गाजी
बेस्ट कन्नड़ फिल्म- Hebbettu Ramakka
बेस्ट मराठी फिल्म- कच्चा लिंबू
नरगिस दत्त अवॉर्ड (फीचर फिल्म)- ठप्पा (निपुण धर्माधिकारी)
बेस्ट चाइल्ड फिल्म- म्होरक्या