प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की एक और बड़ी जीत जिससे बिखर गये विपक्षी

no bharat band 28 nov congress leader accept

no bharat band 28 nov congress leader accept

भारत बंद की कोंग्रेस पार्टी द्वारा वापिस ले लिया गया है ऐसा लगता है देश के नागरिक के विरोध के बाद कोंग्रेस पार्टी के नेता बुरी से तरह घबरा गये हैं ।

आपको बता दें कि अभी थोड़ा सा डर पहले कोंग्रेस के नेता जयराम रमेश ने कहा कि 28 को भारत बंद नहीं होगा बल्कि आक्रोश दिवस के रूप में मनाया जाएगा । जयराम रमेश ने कहा कि, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी धमाका राजनीति में विश्वास करते हैं और वो निर्णय लेने के पूर्व उस पर अच्छी तरह विचार नहीं करते है। हालाँकि जयराम रमेश ये कहते हुये शायद भूल गये कि मोदी जी ने गुजरात में लगातार 13 साल बहुत बढ़िया तरीक़े से राज किया है और गुजरात को एक अग्रणी राज्य की श्रेणी में लाकर खड़ा करने में उनका सबसे बड़ा योगदान रहा है ।

ख़ैर इससे पहले से ही विपक्ष पार्टी में भारत बंद की काल पर फूट पड़ चुकी थी जब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ममता बनर्जी के साथ अलग होने के बाद से ही INLD इससे पल्ला झाड़ लिया था । विपक्षी पार्टी द्वारा भारत बंद का फ़ैसला करके वापिस करने के पीछे देश के नागरिक का पीएम मोदी जी के साथ होना इस बात का सबूत है ।

जब से विपक्षियों ने भारत बंद के लिए कहा था देशभर में विपक्ष के ख़िलाफ़ माहोल गरम हो रहा था ,दुकानदार अपनी दुकानों के बाहर लिखकर बोर्ड लगाये थे कि काला धन तुम्हारा डूबा है हम अपनी दुकानें क्यूँ बंद करें हम तो और 2 घंटे ज़्यादा खोलेंगे ।

Glamras.com से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पेज लाईक करें.....