ठंडा पानी पीने से होने वाले ये नुकसान

the damage caused by drinking cold water

the damage caused by drinking cold water

किसी प्रकार की शारीरिक समस्या होने पर डॉक्टर पानी पीने की अक्सर सलाह देते हैं। कम से कम प्रतिदिन 8 गिलास पानी पीना चाहिए। जिससे शरीर का डायजेस्टिव सिस्टम, स्किन और बाल स्वस्थ रहते हैं। पानी शरीर से खराब पदार्थ को बाहर निकालता है। जब बहुत गर्मी होती है तो लोग बर्फ मिलाकर का कोल्ड पानी पीना शुरू कर देते हैं। लेकिन बिल्कुल ठंडा पानी हमको कभी नहीं पीना चाहिए। ज्यादा ठंडा पानी पित्ताशय के लिए बहुत हानिकारक है। धूप से या फिर बाहर से आकर जल्दी ही बिल्कुल भी ठंडा पानी नही पीएं। ठंडा पानी पीना भविष्य में बहुत ही नुकसानदायक साबित हो सकता है।

हार्ट डिजीज-
ठंडा पानी पीने से खून की नली सिकुड़ जाती हैं, इसलिए हार्ट को खून को पम्प करने के लिए काफी मेहनत करनी पड़ती है। इस कारण से हार्ट पर जोर पड़ता है, साथ ही हार्ट बीट धीमी पड़ने लगती है। इस प्रकार से भविष्य में हाई ब्लड प्रेशर तथा हार्ट अटैक होने का खतरा बढ़ सकता है।

वजन बढ़ना-
खाने के तुरंत बाद मे ठंडा पानी पीने से पाचन प्रक्रिया भी धीमी हो जाती है। और इसका हमारे मेटाबालिज्म पर बहुत बुरा असर होता है। जिससे शरीर में फैट जमा होने लगता है।

पाचन समस्या-
ठंडा पानी-पीने से बाडी की नर्व्स सिकुड़ जाती हैं। और नर्व्स सिकुड़ जाने के कारण पाचन क्रिया धीमी पड़ जाती है। जिसके कारण से कब्ज, खट्टी डकारें तथा एसिडिटी की शिकायत हो जाती है।

सिरदर्द-
ठंडा पानी पीने से शरीर का तापमान अचानक से बदलने लगता है इसका बुरा असर सीधा हमारे मस्तिष्क पर पड़ता है। जिसके कारण सिर दर्द की समस्या भी हो सकती है।

सर्द गर्म-
गर्मी के मौसम में बाहर से आने पर अचानक से ठंडा पानी पीने से शरीर का तापमान गिर जाता है। जिसके कारण चेस्ट में कफ जमने लगता है तथा सर्दी-जुकाम और गले में खराश भी हो जाती है।