कुत्ते के काटने पर इन तरीको को अपनाऐ

these methods adopted dog bites

these methods adopted dog bites

दुनिया में सबसे अधिक कुत्तों को ही घरों में पाला जाता है। लेकिन आपने पालतू कुत्ते को टीके नहीं लगवाया हैं और यदि कभी धोखे में इसने किसी परिवार के सदस्य को काट लिया तो इसके काटने पर आपको रैबीज होने का खतरा हो सकता है जो कि एक जानलेवा बीमारी है। और इसके अलावा यदि सड़को के कुत्ते ने भी कभी आपको काट लिया तब कुछ बहुत सारे लोगों को इस बात की जानकारी नहीं होती है कि कुत्ते के काटने के बाद उनको सबसे पहले क्या करना चाहिए।

ऐसी समय में लोग घबराकर कोई गलत कदम उठा लेते हैं। ऐसी परिस्थिति में सुरक्षित रहने के लिए तत्काल इलाज कराना सबसे आवस्यक है। आज हम ऐसी ही कुछ विशेष बातें करने जा रहे हैं कि यदि कभी आपको या फिर आपके जानने वालों को किसी कुत्ते ने काट लिया तो आपको क्या-क्या सावधानी बरतनी है.

सावधानी-
कुत्ते के काटने पर घाव पर कभी भी कपड़ा ना बांधे। घाव को खुला छोड़ दें।
घाव वाले हिस्से को साबुन से अच्छे से धोएं। अगर घर में शराब है, तो फिर उससे धोएं। शराब एंटीसेप्टिक प्रभाव डालता है।
24 घंटे के अंदर ही डॉक्टर को दिखाएं और साथ ही इन्फेक्शन से बचने के लिए पहला इंजेक्शन लगवाऐ।

इलाज-
डॉक्टरो के अनुसार, इसका इलाज इस बात पर भी निर्भर करता है कि कुत्ते ने कितनी तेजी से काटा है। इसके लिए घाव को साफ़ाई करना तथा इंजेक्शन जरूरी है।
मामूली सी खरोंच के लिए टीका लगवाना सबसे ज्यादा प्रभावी है। अगर कुत्ते ने काफी गहरा काटा है, तो एंटी.रेबीज इम्युनोग्लोबुलिन आवश्यक है।
अधिकतर मामलों में डॉक्टर टांकें लगाने से अक्सर बचते हैं क्योंकि शरीर के दूसरे अंगो को प्रभावित होने का खतरा हो सकता हैं।

अगर घर के पालतू कुत्ते ने काटा है तो तीन टीके लगाने पड़ते हैं। यानि कि पहला टीका कुत्ते के काटने के एक दिन में और दूसरा तीन दिन बाद तथा तीसरा सात दिन बाद में।

यदि आवारा कुत्ते ने काटा है, तो फिर आपको तीसरे टीके के बाद एक सप्ताह के अंतराल में 5 से 7 टीके लगवाने होंगे।
यदि हल्की खरोंच के मामले में आपको मिनिमम तीन टीके लगवाने होंगे।
और इससे निपटने के लिए बहुत लोग घाव पर लोशन लगा लेते हैं। जबकि वास्तव में इससे निपटने के लिए सही इलाज ही जरूरी है। रेबीज एक खतरनाक वायंरल इन्फेक्शन है इसमे एंटीबैक्ट्रियल लोशन लगाने पर कोई असर नहीं होता है।

कई लोगो को इस बात की जानकारी नही होती हैं कि कुत्ते के काटने पर यदि सही से इलाज ना हुआ तो इससे व्यक्ति की जान भी जा सकती है। इसलिए डाक्टर्स की सलाह जरूर लें।